Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024: फसल नुकसान होने पर किसानों को मुआवजा देगी भारत सरकार, 31 जुलाई तक करा सकेंगे फसलों का बीमा

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana
Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024: अगर आप किसान हैं या किसान के बेटे हैं, तो आज का लेख आपके लिए है। केंद्र सरकार ने किसानों को फसल नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की है। यदि आपकी फसल अक्सर बारिश या अन्य प्राकृतिक कारणों से खराब हो जाती है और आपको भारी नुकसान होता है, तो इस योजना के माध्यम से आप अपने नुकसान की भरपाई कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों की फसल का बीमा किया जाता है। प्रीमियम का एक हिस्सा किसान और एक हिस्सा सरकार द्वारा भुगतान किया जाता है। इस तरह, यदि आपकी बीमित फसल किसी भी कारण से खराब हो जाती है, तो बीमा कंपनी उस फसल का दावा देती है।

यदि आप अभी तक इस योजना के बारे में नहीं जानते हैं, तो आप इसका लाभ नहीं उठा सकते। यदि आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक पढ़ें। इसमें योजना का उद्देश्य, इसके लाभ, आवश्यक पात्रता, आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज और आवेदन प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी दी गई है, जिसे जानकर आप आसानी से इस योजना में आवेदन कर सकते हैं और इसका लाभ उठा सकते हैं।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
विभागकृषि एवं किसान कल्याण विभाग
किस द्वारा शुरू किया गया केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीभारत देश के सभी किसान
उद्देश्यकिसानों को आर्थिक सहायता
अधिकतम राशि2 लाख रुपए
हेल्पलाइन नंबर1800180-1111 / 1800-110-001
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइटpmfby.gov.in

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 क्या हैं  

भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 18 फरवरी 2016 को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की। इस योजना के तहत किसान फसल नुकसान की रिपोर्ट कर सकते हैं और वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना का मुख्य लक्ष्य प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित किसानों को नए और आधुनिक कृषि संसाधनों और उपकरणों तक पहुँच प्रदान करना है।

पीएम फसल बीमा योजना के तहत, सरकार अलग-अलग फसलों के नुकसान के लिए अलग-अलग राशि का मुआवज़ा देती है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा और आवश्यक दस्तावेज़ तैयार करने होंगे। इन आवश्यकताओं को पूरा करके, किसान फसल नुकसान से उबरने और बेहतर संसाधनों के साथ अपनी खेती की गतिविधियों को जारी रखने के लिए वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

प्राकृतिक आपदाओं का अर्थ और प्रकार

प्राकृतिक आपदाएँ प्रकृति के कारण होने वाली घटनाएँ हैं जो मानव जीवन और संसाधनों को नुकसान पहुँचाती हैं। इनमें शामिल हैं:

  • भूकंप: अचानक ज़मीन का हिलना।
  • बाढ़: सामान्य रूप से सूखी ज़मीन पर पानी का बहना।
  • तूफ़ान और चक्रवात: तेज़ बारिश और हवा के साथ तेज़, घूमते हुए तूफ़ान।
  • सूखा: लंबे समय तक बारिश न होना।
  • बर्फबारी: भारी बर्फबारी जो दैनिक जीवन को बाधित कर सकती है।
  • भूस्खलन: ढलान से नीचे चट्टान और मिट्टी का खिसकना।
  • आग: जंगलों या घास के मैदानों में अनियंत्रित आग।
  • विभिन्न वायुमंडलीय प्रक्रियाएँ: मौसम से संबंधित अन्य घटनाएँ।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 का पात्रता 

पीएम फसल बीमा योजना 2024 का लाभ उठाने के लिए किसानों को इन मानदंडों को पूरा करना होगा:

फसल उत्पादन: किसानों को अनुसूचित क्षेत्र में भूमि मालिक या किरायेदार के रूप में अधिसूचित फसलों को उगाने में शामिल होना चाहिए।

नागरिकता: आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।

आर्थिक स्थिति: आवेदक मध्यम वर्ग या गरीब परिवार से होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज: आवेदक के पास आवेदन करने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 का आवश्यक दस्तावेज 

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता पासबुक
  • खसरा नंबर
  • बुवाई प्रमाण पत्र
  • ग्राम पटवारी रिपोर्ट
  • भूमि से संबंधित दस्तावेज

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 का लाभ 

फसल नुकसान के लिए बीमा: केंद्र सरकार प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल नुकसान के लिए किसानों को बीमा प्रदान करती है।

साझा प्रीमियम: किसान बीमा प्रीमियम का भुगतान करते हैं, जिसमें केंद्र सरकार भी लागत में योगदान देती है।

प्रीमियम दरें: किसान रबी फसलों के लिए 1.5% प्रीमियम, खरीफ फसलों के लिए 2% और बागवानी और वाणिज्यिक फसलों के लिए 5% प्रीमियम का भुगतान करते हैं।

ऑनलाइन छूट: यदि किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट से फसल बीमा प्राप्त करते हैं, तो उन्हें प्रीमियम पर छूट मिलती है।

फसल नुकसान की रिपोर्ट करना: बीमा राशि प्राप्त करने के लिए किसानों को 14 दिनों के भीतर अपनी फसल के नुकसान की रिपोर्ट करनी चाहिए।

प्रशासन: इस योजना का प्रबंधन एग्रीकल्चर इंडिया इंश्योरेंस कंपनी द्वारा किया जाता है।

बढ़ता हुआ बजट: भारत सरकार द्वारा हर साल इस योजना के बजट में वृद्धि की जाती है। 2016-17 में, 5000 करोड़ रुपये से अधिक आवंटित किए गए थे।

व्यापक कवरेज: इस योजना के तहत देश भर में 36 करोड़ से अधिक किसानों का बीमा किया गया है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana में कौनसी फसलें शामिल है?

खाद्य (FOOD)अनाज-धान, गेहूं, बाजरा वगैरह
वाणिज्यिक (Commercial)कपास, जूट, गन्ना वगैरह
दलहन (Pulses)अरहर, चना, मटर और मसूर सोयाबीन, मूंग, उरद और लोबिया वगैरह
तिलहन (Oilseeds)तिल, सरसों, अरंडी, बिनौला, मूँगफली, सोयाबीन, सूरजमुखी, तोरिया, कुसम, अलसी, नाइजरसीड्स वगैरह
बागवानी (Gardening)केला, अंगूर, आलू, प्याज, कसावा, इलायची, अदरक, हल्दी सेब, आम, संतरा, अमरूद, लीची, पपीता, अनन्नास, चीकू, टमाटर, मटर, फूलगोभी

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Last Date 2024 – Latest Update

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान 31 जुलाई तक अपनी खरीफ फसलों का बीमा करा सकते हैं। राजस्थान सरकार ने 2024 में खरीफ फसलों का बीमा कराने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यह बीमा किसानों को फसल नुकसान से बचाता है। विभिन्न फसलों के लिए प्रीमियम दरों की घोषणा की गई है।

कृषि आयुक्त कन्हैया लाल स्वामी ने बताया कि राज्य सरकार ने खरीफ फसल बीमा के लिए अधिसूचना जारी की है, जिसमें बाजरा, ज्वार, मक्का, मूंग आदि फसलों को शामिल किया गया है। जिला स्तर पर भारतीय कृषि बीमा कंपनी लिमिटेड इस योजना की देखरेख करेगी।

किसानों को अपने बैंक या समिति के माध्यम से बीमा कराने के लिए 29 जुलाई तक अपनी बोई गई फसलों का विवरण देना होगा। जो ऋणी किसान भाग नहीं लेना चाहते हैं, वे 24 जुलाई तक अपने बैंक को सूचित करके इससे बाहर निकल सकते हैं।

इस योजना के तहत किसान 31 जुलाई तक खरीफ फसलों का बीमा करा सकते हैं। प्रीमियम दरें खरीफ फसलों के लिए 2%, रबी फसलों के लिए 1.5% और वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए 5% हैं, जिसका आंशिक भुगतान किसान करेंगे।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 के लिए Online Apply कैसे करे 

अगर आप ऐसे किसान हैं जिनकी फसल बर्बाद हो गई है और आपने अभी तक इस योजना के लिए आवेदन नहीं किया है, तो आप आवेदन करने के लिए इन चरणों का पालन कर सकते हैं:

  1. आधिकारिक प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की वेबसाइट https://pmfby.gov.in/ पर जाएं।
  2. होमपेज पर “Farmer Corner” पर क्लिक करें।
  3. “Guest Farmer” विकल्प चुनें।
  4. योजना के लिए आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  5. आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी भरें और कैप्चा कोड दर्ज करें।
  6. फॉर्म पूरा करने के बाद “Create User” पर क्लिक करें।
  7. अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर का उपयोग करके पोर्टल पर लॉग इन करें।
  8. लॉग इन करने के बाद, योजना के लिए आवेदन पत्र दिखाई देगा।
  9. फॉर्म को ध्यान से भरें और सभी आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें।
  10. अंत में, “Submit” बटन पर क्लिक करें।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana List 2024 कैसे देखे 

  • पीएम फसल बीमा योजना पोर्टल का होमपेज खोले।
  • “Beneficiary List” अनुभाग पर क्लिक करें।
  • नई विंडो में, अपना राज्य चुनें।
  • फिर, अपने जिले का नाम चुनें।
  • इसके बाद, अपने ब्लॉक का नाम चुनें।
  • एक बार जब आप अपना ब्लॉक चुन लेंगे, तो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सूची आपकी स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी।
  • आप अपना नाम PMFBY लाभार्थियों की सूची में पा सकते हैं।
  • आप आधिकारिक वेबसाइट पर “Report” अनुभाग के तहत “State Wise Farmer Details” भी देख सकते हैं।

PM Khad Yojana 2024 Apply Online: किसानों की चमकी किस्मत, उन्हें बीज और खाद के लिए मिलेंगे ₹11000, यहाँ जाने कैसे होगा आवेदन?

FAQs

2024 में फसल बीमा कब उपलब्ध होगा?

फसल बीमा सप्ताह 1 जुलाई, 2024 से शुरू हो रहा है। इस दौरान सरकार किसानों को अपनी खरीफ फसलों का बीमा कराने की अनुमति देती है। इस पहल का उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के मामले में किसानों की आय की रक्षा करना है, जिसे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत सुविधा प्रदान की जाती है।

किसान फसल बीमा का दावा कब कर सकते हैं?

स्थानीय आपदा या फसल कटाई के बाद नुकसान की स्थिति में, किसानों को घटना के 72 घंटे के भीतर बीमा कंपनी को सूचित करना चाहिए। यह बैंकों, तहसील स्तर पर कृषि कार्यालयों या सीधे बीमा कंपनी के माध्यम से किया जा सकता है।

Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top